क्या सभी लाड़ली बहनों को मुफ्त आवास मिलेगा, फैली अफवाह, वास्तविकता क्या है, यहां जानिए..

लाड़ली बहना आवास योजना Aawas Yojana से जुड़ी भ्रांतियां को को दूर करने के लिए पढ़िए पूरी खबर..

Aawas Yojana | मध्य प्रदेश में संचालित हो रही लाडली बहन योजना के अंतर्गत लाड़ली बहना आवास योजना को लेकर कई अफवाहें चल रही है। कतिपय अपराधी किस्म के लोग कई स्थानों पर इस योजना का गलत फायदा उठाने की कोशिश भी कर रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार की ओर से क्या सभी लाडली बहनों को आवास योजना का लाभ मिलेगा या नहीं एवं Aawas Yojana योजना को लेकर वास्तविकता क्या है आइए सब कुछ जानते हैं..

आवास योजना को लेकर यह अफवाह फैली

Aawas Yojana | मध्य प्रदेश में चल रही लाडली बहन योजना से जुड़ी लाडली बहन आवास योजना को लेकर कई अफवाहें फैल गई है। इसका ताजा उदाहरण गुना नगर पालिका में देखने को मिला। यहां पर वार्ड में कुछ लोगों ने प्रचार कर दिया की लाड़ली बहना आवास योजना के फॉर्म जमा हो रहे हैं, जबकि ऐसा कुछ नहीं था। पूरा मामला आईए जानते हैं।

यह है पूरा मामला

लाड़ली बहना आवास योजना Aawas Yojana के अंतर्गत प्रधानमंत्री आवास योजना की कुटीर (आवास) का पंजीयन कराने के लिए शुक्रवार को शहर की 25 से 30 महिलाएं नगर पालिका कार्यालय पहुंची, लेकिन उन्हें खाली हाथ ही

वापस जाना पड़ा। उन्हें बताया कि इस तरह के पंजीयन अभी नगर पालिका कार्यालय में नहीं हो रहे हैं। किसी ने गलत जानकारी आप तक पहुंचाई है।

वहीं महिलाओं का कहना था कि उनकी कॉलोनी में कुछ लोग आए थे जो बोलकर गए थे कि जिन महिलाओं को लाड़ली बहना Aawas Yojana का लाभ मिल रहा है उन्हें सरकार अलग से कुटीर (आवास) दे रही है, जिसके पंजीयन 1 मार्च से शुरू हो रहे हैं, इसलिए वह आई हैं। वह लोग कौन थे हम नहीं जानते।

गौरतलब है कि गुना के अलावा प्रदेश के कई जिलों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में यह अफवाह चल रही है की लाडली बहन आवास योजना के अंतर्गत फॉर्म जमा हो रहे हैं यही कारण है की लाड़ली बहना योजना का लाभ लेने वाली महिलाएं तहसील कार्यालय, जनपद कार्यालय, ग्राम पंचायत कार्यालय, नगर पंचायत एवं नगर पालिका कार्यालय के चक्कर लगा रही है।

ये भी पढ़ें👉 एमपी की लाडली बहनों को एक ओर खुशखबरी मिलेगी, प्रदेश सरकार ने लिया बड़ा फैसला, पढिए पूरी डिटेल..

Aawas Yojana | यह है वास्तविकता

महिलाओं के अनुसार पिछले कई दिनों से कुछ लोग आते हैं और बोलकर चले जाते हैं कि जिन महिलाओं को लाड़ली बहना का लाभ मिल रहा है, उन्हें शासन द्वारा अलग से कुटीर दी जाएगी, इसके लिए 1 मार्च को नगर पालिका कार्यालय में पंजीयन शुरू हो रहे हैं। इस संबंध में नपा कर्मचारियों और पार्षदों ने बताया कि यह अफवाह कई दिनों से चल रही है। गुना सीएमओ तेज सिंह यादव ने बताया कि नगर पालिका द्वारा ऐसी कोई सूचना वार्डों में जारी नहीं की गई है। यह अफवाह है, लोगों को सजग रहने की आवश्यकता है। कुटीर के लालच में किसी को पैसे नहीं देना है।

क्या है पूरी योजना

पिछले वर्ष विधानसभा चुनाव के पहले जून 2023 में लाड़ली बहना योजना Aawas Yojana की शुरुआत हुई थी तब से लगाकर अब तक योजना में कई परिवर्तन हो चुके हैं। योजना के अंतर्गत प्रदेश की 1.29 करोड़ लाड़ली बहनों को प्रतिमाह किस्त की राशि मिल रही है। विधानसभा चुनाव 2023 के पहले योजना का दायरा बढ़ाते हुए आवास योजना को भी इसी में जोड़ा गया था।आवास योजना के अंतर्गत लाड़ली बहनों से आवेदन पत्र 17 सितंबर 2023 से 5 अक्टूबर 2023 तक लिए गए थे।

कब मिलेगा लाड़ली बहना आवास योजना का लाभ

Aawas Yojana | विधानसभा चुनाव के दौरान प्रक्रिया बंद हो गई थी। एमपी में डॉ मोहन यादव की सरकार योजना के अंतर्गत महिलाओं को आवास योजना का लाभ दिए जाने की प्रक्रिया शुरू कर रही है। इसके पहले चरण में 1 लाख लाड़ली बहनों को आवास योजना का लाभ दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत लाड़ली बहना योजना प्रधानमंत्री आवास योजना के समकक्ष है। प्रदेश में जो बहनें पीएम आवास योजना का लाभ नहीं ले पाई है, वो इस योजना का लाभ ले सकती हैं।

इन्हीं लाडली बहनों को मिलेगा योजना का लाभ

लाड़ली बहना आवास योजना Aawas Yojana का लाभ मध्यप्रदेश के मूल निवासी या स्थानीय निवासी को ही मिलेगा। महिला की उम्र कम से कम 21 वर्ष या अधिक होनी चाहिए। योजना का लाभ अधिकतम 55 वर्ष की आयु तक की महिलाओं को ही मिलेगा। ऐसे परिवार जिनको प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) का लाभ नहीं मिला है। जिनके प्रधानमंत्री आवास योजना के आवेदन किसी कारणवश स्वतः रिजेक्ट हो गए है।

ऐसे परिवार जो भारत सरकार के MIS पोर्टल पर दर्ज होने से छूट गए है। एवं ऐसे परिवार जिनका नाम सामाजिक, आर्थिक और जातिगत जनगणना 2011 एवं आवास प्लस की सूची में शामिल नहीं है और उन्हें किसी भी सरकारी योजना Aawas Yojana में मकान नहीं मिला हैं। ऐसे परिवार जिनके पास पक्की छत वाले मकान नहीं है या जो 2 कमरों के कच्चे मकान में रह रहे है। ऐसे परिवार जिनकी मासिक आमदनी 12000 रुपए से कम है।

योजना को केंद्रीय बजट में मिली स्वीकृति

Aawas Yojana | केंद्र सरकार के बजट में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मध्यप्रदेश के सभी 55 जिलों में 38 लाख आवास को स्वीकृति मिल गई है। इनमें से अभी तक 32 लाख आवास पूरे करने का दावा सरकार ने किया है। अब शेष 6 लाख आवासों के लिए राशि मिलेगी। मप्र सरकार ने यह भी तय किया है कि लाड़ली बहनों को भी आवास उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए फर्स्ट फेस में 1 लाख आवास बनाने का फैसला लिया गया है।

सरकारी योजना👉 WhatsApp Group

खबरें ओर भी…👉 ट्रैक्टर पर 1 लाख रुपये की सब्सिडी लेने के लिए 11 मार्च से पहले कर ले आवेदन कर ले किसान, ये है पूरी प्रोसेस..

👉अब घर बैठे मिलेगा हर महीने का राशन, राज्य में शुरू हुई नई योजना, इस तरह मिलेगा आमजन को लाभ

👉 फसल नुकसान की भरपाई के लिए किसानों को मिलेगा प्रति हेक्टे. 10000 का मुआवजा, यहां करें आवेदन..

👉 नई योजना शुरू.. मिलेगा बिना गारंटी का 3 लाख रुपए तक का लोन, , दस्तावेज एवं आवेदन प्रक्रिया यह रहेगी.

प्रिय पाठकों…!🙏 Choupalsamachar.in में आपका स्वागत हैं, हम कृषि विशेषज्ञों कृषि वैज्ञानिकों एवं शासन द्वारा संचालित कृषि योजनाओं के विशेषज्ञ द्वारा गहन शोध कर Article प्रकाशित किये जाते हैं आपसे निवेदन हैं इसी प्रकार हमारा सहयोग करते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे। आप हमारे टेलीग्राम एवं व्हाट्सएप ग्रुप से नीचे दी गई लिंक के माध्यम से जुड़कर अनवरत समाचार एवं जानकारी प्राप्त करें

1 thought on “क्या सभी लाड़ली बहनों को मुफ्त आवास मिलेगा, फैली अफवाह, वास्तविकता क्या है, यहां जानिए..”

Leave a Comment