एमपी में MSP गेहूं खरीदी 37% कम, कारण मंडी में भाव अधिक, देखें-इंदौर, नीमच, मंदसौर सहित सभी मंडियों के गेहूं भाव..

एमपी में गेहूं खरीदी की स्थिति एवं प्रदेश की प्रमुख मंडियों के गेहूं भाव Gehun mandi bhav यहां देखें..

Gehun mandi bhav | मध्य प्रदेश जैसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्य में गेहूं का उत्पादन कम हुआ है। कम उत्पादन के साथ-साथ इस वर्ष गेहूं के मंडी भाव में तेजी का असर गेहूं की सरकारी खरीदी पर पड़ा है। प्रदेश में अब तक न्यूनतम मूल्य पर गेहूं की खरीदी 37% कम हुई है, जबकि देशभर में यह खरीदी 5% कम हुई है।

यही कारण है कि एमपी एवं पंजाब जैसे बड़े गेहूं उत्पादक राज्यों में गेहूं की सरकारी खरीदी Gehun mandi bhav अब तक कम मात्रा में होने से सरकार चिंतित हो गई है, इसलिए एमपी में सरकारी खरीदी की अंतिम तिथि को बढ़ाया गया है। इसके बावजूद गेहूं की खरीदी का यह आंकड़ा बढ़ने की संभावना बहुत कम है। देश एवं एमपी में गेहूं खरीदी की स्थिति एवं वर्तमान मंडी भाव क्या है, आईए जानते हैं..

यह है एमएसपी पर गेहूं खरीदी की स्थिति

Gehun mandi bhav | केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार एक अप्रैल से 2 मई तक देशभर में गेहूं की खरीद घटकर 221 लाख टन रह गई। यह पिछले साल की समान अवधि में एमएसपी पर गेहूं की सरकारी खरीद की तुलना में 4.90% कम है। मध्य प्रदेश में इससे ज्यादा गिरावट आई। प्रदेश के राजगढ़ जिले में पानी की कमी ने गेहूं की फसल को बुरी तरह प्रभावित किया है।

तमाम प्रयासों के बावजूद पैदावार 20% तक घट गई है। मध्य प्रदेश ने इस साल केंद्रीय अनाज पूल के लिए किसानों से लगभग 80 लाख टन गेहूं खरीदने का लक्ष्य रखा है, लेकिन 2 मई तक लगभग 37 लाख टन की ही खरीद हो पाई है, जो पिछले साल की समान अवधि में हुई खरीद से 37.2% कम है। अब तक एमएसपी पर गेहूं की खरीद Gehun mandi bhav देशभर में 5% कम हुई है।

👉 व्हाट्सऐप चैनल से जुड़े।

एमपी में MSP पर सबसे कम खरीदी 

Gehun mandi bhav | केन्द्रीय कृषि मंत्रालय ने 2023-24 के रबी सीजन में गेहूं का घरेलू उत्पादन बढ़कर 1120.20 लाख टन के सर्वकालीन सर्वोच्च स्तर पर पहुंचने का अनुमान लगाया है, जो 2022-23 सीजन के रिकॉर्ड उत्पादन 1105.50 लाख टन से भी करीब 15 लाख टन ज्यादा है। इसके आधार पर खाद्य मंत्रालय ने 373 लाख टन गेहूं की खरीद का महत्वकांक्षी लक्ष्य नियत किया है।

ये भी पढ़ें 👉 केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात से कुछ शर्तों के साथ प्रतिबंध हटाया, किसानों को इसका कितना फायदा मिलेगा जानिए..

आरंभिक चरण में सरकार ने 300-320 लाख टन के बीच गेहूं की खरीद का लक्ष्य रखा था जिसे बाद में बढ़ाकर 372.90 लाख टन नियत कर दिया। पिछले वर्ष कुछ मिलाकर करीब 262 लाख टन गेहूं की सरकारी खरीद हुई थी। : Gehun mandi bhav

इस बार केन्द्रीय पूल में पंजाब व मध्यप्रदेश में गेहूं की खरीद गत वर्ष से काफी पीछे चल रही है, जबकि हरियाणा, उत्तर प्रदेश एवं राजस्थान में खरीद की स्थिति अपेक्षाकृत बेहतर है। मई 2024 तक राष्ट्रीय स्तर पर कुल 213.60 लाख टन गेहूं खरीद गया जो गत से 5 प्रतिशत कम रहा। मध्यप्रदेश में खरीद का प्रदर्शन काफी कमजोर है और यहां केवल 35 लाख टन गेहूं खरीदा Gehun mandi bhav जा सका।

इस वर्ष गेहूं भाव नियंत्रित करना मुश्किल रहेगा 

गेहूं के भाव में जिस प्रकार की स्थिति वर्तमान में बनी है उसको देखते हुए गेहूं के बड़े कारोबारी अनुमान जता रहे हैं कि इस वर्ष सरकार गेहूं के भाव को नियंत्रित नहीं कर पाएगी, क्योंकि सरकार यदि विदेशों से गेहूं आयात Gehun mandi bhav करने की दिशा में कदम उठाती है तो वहां पर भी सरकार को सकारात्मक स्थिति नहीं मिलेगी। बताया जा रहा है कि गेहूं के आयात में भी परेशानी हो सकती है।

इधर दूसरी ओर विदेश में भी गेहूं की पैदावार इस वर्ष अनुमान के मुताबिक नहीं हो पाई है। रूस एवं यूक्रेन में बड़ी मात्रा में गेहूं की खेती युद्ध के कारण प्रभावित हुई है, जिसके कारण जहां स्थानीय बाजार में गेहूं की डिमांड अधिक है। यही कारण है कि ग्लोबल मार्केट में गेहूं के वायदा बाजार में लगातार तेजी आ रही है। व्यापार विशेषज्ञों के मुताबिक आने वाले एक वर्ष के दौरान गेहूं के भाव में तेजी का रूख बना रहेगा। भारत में गेहूं के भाव 3500 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंचाने की संभावना है। : Gehun mandi bhav

इंदौर मंडी में गेहूं भाव : Gehun mandi bhav

इंदौर में गेहूं मिल क्वालिटी 2400 2450 मिल एवरेज 2450-2550 मालवराज गेहूं 2300-2500 लोकवन 2650-3250 पूर्णा 2650-3300 चंदौसी 3500-5500 रुपए प्रति क्विंटल तक बिक रहा है।

  • नीमच मंडी – गेंहॅू 2278 से 3261,
  • मंदसौर मंडी – गेहू 2220 – 3140,
  • उज्जैन मंडी – गेहू लोकवन 1385 – 3090,
  • हरदा मंडी – गेहू 2100 – 2509,
  • जावरा मंडी – गेहूं 2200 – 3300,
  • देवास मंडी – गेहूं 2200 – 3080,
  • बेतुल मंडी – गेहू 2100 – 2561,
  • Gehun mandi bhav रतलाम मंडी – गेहूं लोकवन 2390 – 3311, गेहूं शरबती 2823 – 5051,
  • सीहोर मंडी – गेहूं शरबती 3136 – 4100, गेहूं लोकवन 2443 3162, गेहूं मालवराज 2274 2427, गेहूं मील 2210 2478,
  • धामनोद मंडी – गेहू 2200 – 2450,
  • धार मंडी – गेहू 2000 – 3156,
  • खंडवा मंडी – गेहू 1800 – 2918, गेहू शरबती 2600 4390, गेहू 1544 – 1500,
  • आष्टा मंडी – गेहू सुजाता 3011 – 4170, गेहू लोकवन 2423 – 2819, गेहू पूर्णा 2365 – 2800, गेहू मालवाराज 2200 – 2425, गेहू मिल 2302 – 2420,
  • टिमरनी मंडी – गेहू (मिल) 2138 – 2500, Gehun mandi bhav
  • शाजापुर मंडी – गेहू 2000 – 2804,
  • बदनावर मंडी – गेहू 1900 – 2950,
  • बड़नगर मंडी – गेहूं लोकवन 2122 – 2880, गेहू पूर्णा 2110 – 2544,
  • ब्यावरा मंडी – गेहू 2360 – 2550,
  • सैलाना मंडी – गेहू 2300 – 3501,
  • करही मंडी – गेहू 2355 – 2665,
  • गंजबसोदा मंडी – गेहूं शरबती 2600 – 4305, गेहूं 1544 – 2100, मालव शक्ति 2240 – 2370,
  • कुरावर मंडी – गेहू 2150 – 2700,
  • कुक्षी मंडी – गेहू 2450 – 2680,
  • राजगढ़ (धार) मंडी – गेहू 2276 – 2862 रूपए प्रति क्विंटल रहा। : Gehun mandi bhav
👉 व्हाट्सऐप चैनल से जुड़े।

यह भी पढ़िए….👉खेती से किसानों को मिलेगा बड़ा लाभ, कृषि निर्यात को लेकर सरकार बना रही नई नीति, कैसे मिलेगा फायदा जानिए..

👉भारत के द्वारा प्याज निर्यात पर बैन से बांग्लादेश ने किया भारतीय संतरा उत्पादक किसानों को परेशान, पढ़िए डिटेल..

👉 इस वर्ष जोरदार वर्षा होने की संभावना, खरीफ सीजन में सोयाबीन की यह किस्में करेगी किसानों को मालामाल..

👉 लहसुन के साथ-साथ प्याज के भाव में भी तेजी, देखें आज के नीमच एवं इंदौर मंडी में प्याज, आलू, लहसुन के लेटेस्ट भाव..

👉 WhatsApp से जुड़े।

जुड़िये चौपाल समाचार से- ख़बरों के अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे WhatsApp Group और Telegram Channel ज्वाइन करें और Youtube Channel को Subscribe करें।

नोट : – हमारा उद्देश्य किसानो तक सही जानकारी और सही समय पर पहुंचाना है। किसान साथियों मंडी में अपनी फसल ले जाने से पूर्व अपनी नजदीकी मंडी में अपनी फसल का भाव पता जरूर करें। चौपाल समाचार पर दिए जाने वाले सभी भाव सूची वहां की मंडी से प्राप्त होते हैं।

भाव दिए जाने के दौरान पूरी सावधानी रखी जाती है, फिर भी किसी भी प्रकार की त्रुटि होने से भी इनकार नहीं किया जा सकता। इसलिए किसान साथी जो भी व्यापार करें, वह स्वयं के विवेक से करें। किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति के लिए चौपाल समाचार कि कोई भी जिम्मेदारी नहीं रहेगी।

प्रिय पाठको…! 🙏 Choupalsamachar.in में आपका स्वागत हैं, हम कृषि विशेषज्ञों कृषि वैज्ञानिकों एवं शासन द्वारा संचालित कृषि योजनाओं के विशेषज्ञ द्वारा गहन शोध कर Article प्रकाशित किये जाते हैं आपसे निवेदन हैं इसी प्रकार हमारा सहयोग करते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे। आप हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से नीचे दी गई लिंक के माध्यम से जुड़कर अनवरत समाचार एवं जानकारी प्राप्त करें.👉 WhatsApp channel से जुड़े। 

Leave a Comment